Self confidence कैसे बढ़ाए | इन 5 आसान तरीकों से बढ़ाए आत्मविश्वास | Self-confidence improving tips in hindi

Self confidence कैसे बढ़ाए | 5 आसान तरीके | Self-confidence improving tips in hindi
Self Confidence कैसे बढ़ाएं

Self confidence improving tips in hindi: हर सफल इंसान में एक खाशियत होती है कि, वह हमेशा खुद पर विश्वास करता है। और यही आत्मविश्वास उसे कामयाब बनाने के लिए हर मोड पर हर प्रकार की चुनौतियों का सामना करने में मदद करता है। यानी आत्मविश्वास(self confidence) सफलता का ही अविभाज्य घटक हैं यह कहना गलत नहीं होगा। क्योंकि किसी भी क्षेत्र में सफलता पाने या अपनी बात को दूसरों के सामने सही ढंग से रखने के लिए व्यक्ति में आत्म विश्वास होना अतिआवश्यक होता है।

आत्मविश्वास से भरपूर व्यक्ति अपने कार्यस्थल पर, अपने परिवार में और समाज में अपनी एक अलग ही पहचान बनाता है। आत्मविश्वास से भरपूर व्यक्ति खुद को पसंद करता है, वह अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक लक्ष्यों को हासिल करने के लिए जोखिम उठाने को तैयार रहता है, और अपने भविष्य के बारे में सकारात्मक सोचता है। 

वहीं आत्मविश्वास की कमी आपकी सफलता के रास्ते में पहाड़ बन कर खड़ी हो सकती हैं। जिसमें आत्मविश्वास नहीं, समझो कि वो इस दुनिया में कुछ भी सही तरीके से नहीं कर सकता। यही नहीं आत्मविश्वास की कमी आपके व्यक्तित्व पर भी नकारात्मक प्रभाव छोड़ सकती है। 

अगर आपको अपनी काबिलियत साबित करने का मौका मिले या किसी विषय पर दो शब्द कहने को कहा जाए, ऐसे स्थिति में अगर आप में आत्मविश्वास की कमी हो तब आपको पीछे हटना पड़ता हैं। ये सब आप कर सकते हैं पर कमजोर आत्मबल के कारण आप पीछे रह जाते हैं।

सरल भाषा में कहे तो व्यक्ति की सफलता बहुत हद तक उसके आत्मविश्वास पर निर्भर करती है। इसलिए जो कोई सफलता के शिखर को चढ़ना चाहता है, उसे आत्मविश्वास से मजबूत होना अति आवश्यक है। लेकिन अगर आप में आत्मविश्वास की कमी हो तो हताश होने की कोई बात नहीं, क्योंकि आत्मविश्वास एक ऐसा गुण है जो कोई भी व्यक्ति कुछ आसान तरीके अपना कर खुद में विकसित कर सकता है।

इस लेख में हम आत्मविश्वास को मजबूत करने वाले कुछ आसान तरीके आपके साथ साझा कर रहे हैं, जिससे आप अपने आत्मविश्वास को आसानी से बढ़ा सकते हैं।

आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं| how to build self confidence in hindi


अपनी तुलना दूसरों से ना करें


अक्षर लोग दूसरों के साथ खुद की तुलना करते हैं। अपने काम का, अपने वेतन का, अपनी क्षमता का, अपने गुणों का यहां तक की अपनी खुशियों का भी, पर इससे हमें कुछ हासिल नहीं होता। उलट हम खुद कमजोर होते जाते हैं, हमारे मन में ईर्ष्या पैदा होती हैं। हमारी जिंदगी में बहुत सारी ऐसी चीज़ें होती हैं, जो केवल हमारे पास हैं, लेकिन हम उसकी अहमियत समझकर खुश नहीं होते। लेकिन दूसरों की छोटी ख़ुशी भी हमें बड़ी लगने लगती है, जबकि हम अपनी बड़ी खुशियों को इग्नोर कर देते हैं।

वहीं दूसरों के साथ निरंतर की जा रही तुलना हमारे आत्मविश्वास को भी कम कर देती है, और इस से हमें अपने ही बारे में बुरा लगने लगता हैं। हम अपनी सक्षमताओं के बारे में सोचे बिना सिर्फ़ अपनी कमियों को सोच कर परेशान होते हैं। और यहाँ तक कि यह हमें अपने जीवन के कुछ खास पहलुओं का आनंद लेने से भी रोक देती है।

Personality and Individual Differences में प्रकाशित 2018 के एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि जो लोग खुद की तुलना दूसरों से करते हैं वे ईर्ष्या का अनुभव करते हैं। और जितना अधिक उन्होंने ईर्ष्या का अनुभव किया, उतना ही बुरा उन्होंने अपने बारे में महसूस किया।

तो अगर अपने आप में आत्मविश्वास को बढ़ाना है तो खुद की तुलना दूसरों के साथ न करें। क्योंकि हर कोई अपनी-अपनी दौड़ में भाग रहा है और जीवन कोई प्रतियोगिता नहीं है।


सकारात्मक लोगों के बीच रहे


जिंदगी को खुलकर और मजेदार तरीके से जी ने के लिए सकारात्मकता बहुत जरूरी होती है। क्योंकि खुशी और सफलता हमेशा पॉजिटिव लोगों के कदम चूमती है। और खुद को सकारात्मक बनाने के लिए हमेशा सकारात्मक सोच रखने वाले लोगों में रहना चाहिए। ऐसे लोगों के साथ रहने से हमारे दिमाग में सकारात्मकता प्रभाव पड़ता है और हम भी पॉजिटिव रहते हैं।

नकारात्मक विचार वाला व्यक्ति न सिर्फ अपने लिए तनाव व चिंता का कारण होता है, बल्कि अपने आसपास के लोगों के विचार या मानसिक शांति को भी प्रभावित कर सकता है। इसलिए हमेशा पॉजिटिव लोगों के साथ ही रहना पसंद करें।


स्वस्थ और उर्जावान रहे


जब आप स्वस्थ रहते हैं, तो आप जानते हैं कि आप अपने मन, शरीर और आत्मा के लिए कुछ सकारात्मक कर रहे हैं, तब आप स्वाभाविक रूप से अधिक आत्मविश्वास महसूस करेंगे। और स्वस्थ रहने के लिए आपको पौष्टिक आहार, व्यायाम के साथ साथ पुरी नींद भी लेनी है।

जब आप सही खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं, तो आप स्वस्थ, मजबूत और अधिक ऊर्जावान महसूस करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप आप अपने बारे में बेहतर महसूस कर सकते हैं। वहीं न्यूरोसाइकिएट्रिक डिजीज एंड ट्रीटमेंट में प्रकाशित 2016 के एक अध्ययन के मुताबिक नियमित शारीरिक गतिविधि करने वाले अपने शरीर की छवि में सुधार करते। और जब उनके शरीर की छवि में सुधार होता है, तो वे और अधिक आत्मविश्वास महसूस करते हैं। विज्ञान के मुताबिक हर व्यक्ति को 7-8 घंटे नींद लेनी चाहिए। अच्छी नींद को सकारात्मक व्यक्तित्व लक्षणों से जोड़ा गया है, जिसमें आशावाद और आत्म-सम्मान शामिल हैं।


अपनी प्रतिभा को पहचानें


हर कोई किसी न किसी चीज में निपुण होता है, इसलिए उन चीजों की खोज करें जिनमें आप उत्कृष्टता प्राप्त करते हैं, और फिर अपनी प्रतिभा पर ध्यान केंद्रित करें। खुद की प्रतिभा जीवन में सबसे बड़ी सफलता के मंत्रों में से एक है, लेकिन कई लोग वास्तव में अपनी प्रतिभा से अवगत नहीं होते और सफलता से हाथ धो बैठते हैं। वास्तव में वे अपनी प्रतिभा को पहचानने और निखारने की प्रक्रिया को नहीं जानते।


कुछ ऐसा ढूंढें जो आपको पसंद हो और अपनी रुचि के अनुसार प्रतिभा विकसित करें। अपने जीवन में विभिन्न प्रकार की रुचियों या शौकों को शामिल करने से न केवल आप अधिक आत्मविश्वासी बनेंगे, बल्कि यह आपके अनुकूल मित्रों से भी मिलने की संभावना को बढ़ा देगा। और जैसे जैसे आप अपनी प्रतिभा में निपुण होते जाएंगे, वैसे ही आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद होगी।

डर का सामना करो


अक्षर लोग सफलता के रास्ते में आने वाली चुनौतियों का सामना करने से डरते हैं। कुछ कर दिखाने के लिए हिम्मत नहीं जूठा पाते। असफल हुए तो लोगों के ताना मारने को लेकर डर जाते हैं। किसी विषय पर बोलने को कहा जाए तो क्या बोले, कैसे बोले और अगर कुछ गलत बोल दिया तो लोग हसेंगे को लेकर डर जाते हैं। पर कहा जाता है ना कि, "डर के आगे जीत है।" 

जी बिल्कुल अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका है कि हमें अपने डर का डटकर सामना करना है। अगर हम पहले प्रयास में असफल रहे तो अगली बार अपनी असफलता से सीख लेकर जरूर सफलता हासिल कर सकते हैं। इस बार कुछ कम बोले लेकिन अगली बार पूरे जोश के साथ बोलने के लिए तैयार रहते हैं। और इन्हीं बातों से हम अपने आत्मविश्वास को प्राप्त कर सकते हैं। जब हम अपने डर का सामना करते हैं और कठिन चीजों को आजमाते हैं, तो हम खुद पर विश्वास हासिल करेंगे।

आत्मविश्वास के फायदे, benefits of self confidence


आत्मविश्वास होने से घर में, काम पर और आपके रिश्तों में कई फायदे हो सकते हैं। जैसे....


बेहतर प्रदर्शन: जब हम आत्मविश्वास से परिपूर्ण होते हैं तो हम अपने काम में पहले से ज्यादा बेहतर प्रदर्शन करते हैं। हम ज्यादा सोच-विचार करने में समय बर्बाद करने के बजाय उस काम को तुरंत करने का प्रयास करते हैं। अंततः में हम बेहतर करते हुए सफल ही होते हैं।

प्यार भरे रिश्ते: आत्मविश्वास होने से न केवल आप अपने बारे में अच्छा महसूस करते हैं, बल्कि यह आपको दूसरों को बेहतर ढंग से समझने और प्यार करने में मदद करता है। जिससे हमारे रिश्तों में मिठास आती हैं और जीवन को ओर भी बेहतर तरीके से जीते हैं।


नई चीजों को आजमाने का खुलापन: जब आप खुद पर विश्वास करते हैं, तो आप नई चीजों को आजमाने के लिए तैयार रहते हैं।  जब आपको खुद पर और अपनी क्षमताओं पर भरोसा हो तो खुद को बाहर रखना बहुत आसान हो जाता है।

लचीलापन: अपने आप में विश्वास आपके लचीलेपन को बढ़ा सकता है, या जीवन में आपके सामने आने वाली किसी भी चुनौती या प्रतिकूलताओं से वापस उछालने की क्षमता को बढ़ा सकता है।

जीवन में अधिक खुशी और आनंद: आप जितने आत्मविश्वासी होते हैं, आप अपने साथ उतने ही खुश होते हैं और अपने फेमिली के साथ आनंद से अपना जीवन व्यतित करते हैं।

अधिक ऊर्जा के साथ कार्य करने की प्रेरणा: आप जितने अधिक आत्मविश्वासी होते हैं कि आप अपनी जरूरी चीजों को उतनी ही आसानी से आप प्राप्त कर सकते हैं। आप उन्हें प्राप्त करने के लिए अधिक प्रेरणा और ऊर्जा के साथ क्रिया करते हैं।

Self confidence कैसे बढ़ाए यह लेख आपको अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने जरूर मददगार साबित होगा। इस लेख को लेकर आपके विचार जरूर हमारे साथ शेयर करें।

और ऐसे ही motivational और प्रेरणादायक लेखों के लिए www.anmolhindi.in के साथ जुड़े रहे। धन्यवाद

ये भी आपको पसंद आयेंगे ;




Reactions

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ