Dr. Vivek Bindra success and motivational story in hindi

Dr.Vivek Bindra success and motivational story in hindi
Dr.Vivek Bindra success and motivational story in hindi

नमस्कार, आज हरेक छोटा-बड़ा Businessman हो या पढाई करने वाला student या फिर असफलता के कारण जीवन में हार मान चूका शख्स हो, हर कोई Dr.Vivek Bindra के विडियो देखकर motivate होता हैं. और बहुत सारे तो अपनी अपनी फिल्ड में नई ऊंचाईयों को छु रहे हैं. Dr. Vivek Bindra के विडियो देखने वाला हर शख्स अपने अंदर एक नई उर्जा को महसूस करता हैं. और जीवन में कुछ कर दिखाने के लिए तैयार हो जाता हैं.

Dr. Vivek Bindra का हरेक विडियो सफल होने के लिए प्रेरित करता हैं. विडियो में हो या फिर सेमिनार में उनका बोलना ही सुनने वालो में उर्जा भर देता हैं. कोई घंटे तक वह बोलते हैं, लेकिन कभी यह महसूस नहीं होता कि, वे थक गए हैं. और वे बीना थकावट के लोगों के जीवन में कुछ करने के लिए प्रेरणा भरते हैं. मानो,Vivek Bindra ने छोटे व्यापारियों के साथ साथ असफलता के कारण निराश लोगों को ध्यान में रखते हुए एक वचन ही ले लिया कि, कुछ भी हो जाए मैं अपने देश के हर small businessman के साथ साथ असफल लोगों को भी आगे लाऊंगा.

आज इस लेख के जरिए हम आपको Dr.Vivek Bindra की success story से रूबरू कराएंगे, ताकि आपको उनकी success story से motivation मिल सके. और उनकी तरह ही ना सही, लेकिन कुछ हद तक अपने जीवन में सफलता हासिल कर सके.

कौन हैं Dr. Vivek Bindra?

विवेक बिंद्रा पेशे से एक Motivational Speaker हैं. और वह दिल्ली के रहने वाले हैं. Motivational Speaker के साथ साथ वह Founder Global ACT An author, youtuber, Corporate Trainer, Business consultant and life coach के अलावा badabusiness.com के फाउंडर और CEO भी हैं.

Dr. Vivek Bindra की पढ़ाई की 

विवेक बिंद्रा ने अपनी शुरूआती पढ़ाई आम विद्यालय से की. और बाद में उन्होनें 1999-2001 में दिल्ली में स्तिथ  XAVIER College से BBA किया. उसके बाद उन्होनें लोन लेकर नोएडा से AMITY BUSINESS College से MBA की पढ़ाई पूरी की. विवेक बिंद्रा ने ये कोर्स सन 2001-2005 में किया था.

Dr. Vivek Bindra की success story

विवेक बिंद्रा का जीवन शुरू में बहुत ही संघर्षमय रहा है. और उनका संघर्षमय जीवन हर किसी के लिए एक प्रेरणादायक है. Dr. Vivek Bindra का जन्म 5 अप्रैल 1978 को दिल्ली में हुआ था. वो ढाई साल के ही थे उसी वक्त उनके सिर से पिता का छाया उड़ गया था. पिता के मृत्यु के कुछ समय बाद उनकी माता ने भी दूसरी शादी कर ली थी. बिना माता पिता के जीवन जीना तो बहुत मुश्किल होता है. और तो और उस पर अच्छी शिक्षा लेना उससे भी बड़ी परेशानी की बात होती है.

ऐसी परिस्तिथि में उन्होनें जैसे तैसे प्राइमरी शिक्षा पूरी की. वह बचपन से ही पढ़ाई में काफी तेज थे. प्राइमरी शिक्षा पूरी करने के बाद कॉलेज के लिए उनके पास पैसे नहीं थे. इसलिए उन्होंने 16 साल की उम्र में ही ट्यूशन पढ़ाना शुरू कर दिया. और उससे जो भी पैसे मिलता उसे कॉलेज फीस के तौर पर भरते थे. विवेक बिंद्रा चाहते तो, वह अपने ट्यूशन को ही अपना करियर बना लेते, लेकिन उनमें कुछ अलग करने का जुनून था.

विवेक बिंद्रा के जीवन में ऐसा समय आया जब उनके आसपास कोई भी नहीं था. और उस वक्त उन्होंने सन्यासी के तौर पर वृंदावन में चार साल बिताए. वहां वह एकदम साधू की तरह ही रहने लगे और लोगों की सेवा करने लगे. लेकिन कभी कभी वह हताश और निराश रहते थे. और यह उनके गुरु ने देखा. और मन के शांति के लिए उन्हें श्रीमद भागवत गीता की शक्ति के बारे में बताया. और उन्हें श्रीमद भगवत गीता पढ़ने की सलाह दी. बता दे कि, विवेक बिंद्रा खुद को मिली सफलता में श्रीमद भगवत गीता का भी अहम रोल मानते हैं. और अक्षर देखा जाता हैं कि, विवेक बिंद्रा किसी सेमिनार में या अपने मोटिवेशनल विडियो में श्रीमद भगवत गीता  का उल्लेख करते ही हैं.

MBA की पढ़ाई कम्पलीट करने के बाद विवेक बिंद्रा ने नौकरी नहीं बल्कि बिजनेसमैन बनने का तय किया. लेकिन शुरुआत में वह विचार करते थे कि,बिज़नेस को हर कोई करना चाहता हैं. मगर लोग success क्यों नहीं हो पाते. इन्हीं विचारों ने विवेक बिंद्रा को अपने नए करियर का रास्ता खोल दिया. कुछ नया करने का जुनून रखने वाले विवेक बिंद्रा ने ठान लिया कि, मैं ऐसे लोगों को ट्रेन करूँगा, जो अपने बिज़नेस में कामयाबी हासिल करने में असफल रहते हैं. लेकिन विवेक की इस रास्ते की शुरुआत भी कठिनायों से कम नहीं थी. शुरुआत के दो ढाई साल तक उनके पास कोई नहीं आया. जिसके कारण वह और निराश रहने लगे.

बाद में विवेक बिंद्रा ने अपनी किताबी ज्ञान और श्रीमद भागवत गीता के ज्ञान के जरिए अपना जीवन बदलने का प्रयास किया. और इसमें वह सफल रहे. इस बार वह अपने अंदर नई उर्जा को महसूस करने लगे. और उसे वह पूरी दुनिया के साथ शेयर करने के लिए बेकरार हो रहे थे. वह एक परफेक्ट बिज़नेस गुरु बनने क लिए डीप सर्च करते गए. और उनके अंदर नई नई business idea संचार होती गई. और इस बार वह जिसे भी business के संबंधित जानकारी देते वह लोगों को काफी पसंद भी आने लगी. और उनके क्लाइंट भी बढ़ने लगे

जैसे जैसे क्लाइंट बढ़ने लगे विवेक बिंद्रा खुद को और स्मार्ट बनाते गए. और उन्होनें 06 दिसंबर 2013 को Dr. Vivek Bindra: Motivational Speaker के नाम से एक youtube चैनल की शुरुआत की. इस youtube चैनल पर वह शुरुआत में इंग्लिश में मोटिवेशनल वीडियो अपलोड करने लगे. लेकिन ये विडियो लोगों को आकर्षित करने में असफल रहे. बाद में वह हिंदी में पोपुलर ब्रांड्स की स्टडी वीडियो बनाने लगे. और विवेक बिंद्रा के हिंदी विडियो लोगों को बेहद ही पसंद आने लगे. देखते ही देखते उनके subscribers की संख्या भी काफी तेजी से बढ़ने लगी.

अब विवेक लोगों की पसंद को देखते हुए विडियो बनाकर लोगों को मोटीवेट करने लगे. उनके विडियो के व्यू देखते देखते ही मिलियन में होने लगे. आज Dr.Vivek Bindra के youtube चैनल पर 12.2 मिलियन से भी अधिक  Subscriber है.

आज विवेक बिंद्रा के youtube चैनल पर आप कोई भी business को फ्री में सीख सकता है. और साथ ही में खुद को मोटिवेशन से भरपूर कर सकते है. आज जो भी लोग विवेक बिंद्रा के सेमिनार में उपस्थित नहीं हो पाते हैं, वे उनके youtube चैनल से बहुत कुछ सीख सकते हैं. आपको बता दे कि, Dr. Vivek Bindra के youtube चैनल पर लाइफ में सक्सेस कैसे होना है और अपने बिज़नेस को कैसे सफल बनना हैं इसके बारे में बहुत सारे विडियो मिल जाएँगे. उनके चैनल के जरिए करोड़ों लोग अच्छी बातें सीखते हैं. और खुद को सफल भी बनाते हैं.

आपको बता दे कि, Dr.Vivek Bindra ने आज कई सारे संघर्ष और परेशानियों का सामना करते हुए जिस मुकाम को हासिल किया है. उसे देखते हुए लाखों लोग और हजारों कंपनियां उन्हें अपना आइडल मानती है.

तो दोस्तों, आशा करता हूँ, आपको Dr. vivek Bindra की यह success story जानकर मोटिवेशन मिला होगा. क्या आप विवेक बिंद्रा के विडियो देखते हैं. आपको उनके विडियो कैसे लगते है. हमे जरुर कमेंट करे. अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई सुझाव हो या आपति हो तो हमें संपर्क करे.

आपका कीमती समय देने के लिए तहेदिल से धन्यवाद
Reactions

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ